HomeFishRibbon Fish Kay Hai और इस मछली को खाने से क्या क्या...

Ribbon Fish Kay Hai और इस मछली को खाने से क्या क्या Benfit मिलता है ?

RIBBON FISH   रिबन मछली:

RIBBON FISH  मछली को “हेयर-टेल  कटलैस फिश” के रूप में भी जाना जाता है ओर ये मछली TRACHIPTERIDAE परिवार की है। इस मछली का नाम TRICHIURUS LEPTURUS है।

यह बहुत संकुचित दिखती है, रिबन जैसी लंबी शरीर, एक बहुत ही संकीर्ण पूंछ आधार के लिए पतला ,पीली आंखें , बड़े मुंह, लंबे समय से पतले पृष्ठीय पंख है ये  आम तौर पर अटलांटिक, भारतीय और पश्चिमी प्रशांत महासागरों में पाए जाने वाले गहरे पानी के एल्सेलो में रहते हैं।

थाइज मछली ज्यादातर बांग्लादेश में बेची जाती है। इस मछली को बांग्लादेश में लाल बैंडफिश के रूप में भी जाना जाता है।

Ribbon Fish
Ribbon Fish                  

RIBBON FISH का TASTE :

बनावट नाज़ुक है, सफेद, परतदार मांस के साथ ज़पान में पुरस्कार भोजन है, लेकिन अभी तक अमेरिकी खाने वालों द्वारा व्यापक रूप से जाना जाता है। नमकीन, समुद्र के स्वाद का एक संकेत के साथ हल्के कहां से देखें: रिबन मछली अटलांटिक, भारतीय और पश्चिमी प्रशांत महासागरों में पाई जाती है।Ribbon Fish

RIBBON FISH कितिनि प्रकार की है :

कई प्रकार की प्रजातियां हैं ओर रिबन मछली की परिवार के लगभग 2 वैराइटी भारतीय समुद्री में पाई जाती है

  1.  बड़े सिर वाली रिबन मछली
  2. छोटे-सिर वाले हाइलटेल रिबन मछली

बालों की पूंछ  को अच्छा खाने के रूप में माना जाता है ओर कभी-कभी मछली बाजार के माध्यम से बेचा जाता है।

1. बड़े सिर वाली रिबन मछली:

बेल्टहेड्स के रूप में भी जाना जाने वाला लार्जहेड हेयरकट, परिवार का एक सदस्य है, त्रिचीरीदे। इसका वैज्ञानिक नाम Trichiurus lepturus है। सामान्य प्रजातियाँ उष्णकटिबंधीय और समशीतोष्ण महासागरों में पाई जाती हैं। लार्जहेड हेयरटेल सिल्वर स्टील ब्लू रंग की, पतली नुकीली पूंछ वाली, आंखें बड़ी और मुंह बड़ा होता है।

Ribbon Fish


लार्जहेड हेयरटेल उष्णकटिबंधीय और समशीतोष्ण समुद्रों में दुनिया भर में पाए जाते हैं।  पूर्वी अटलांटिक में ये दक्षिणी यूनाइटेड किंगडम से लेकर दक्षिण अफ्रीका तक भूमध्य सागर मे दिखाई देता है। पश्चिम अटलांटिक में यह वर्जीनिया से लेकर उत्तरी अर्जेंटीना तक होता है जिसमें कैरेबियन सागर और मैक्सिको की खाड़ी भी शामिल है। पूर्वी प्रशांत  में वे दक्षिणी कैलिफोर्निया से पेरू तक हैं। इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में व्यापक, लाल सागर से लेकर दक्षिण अफ्रीका, जापान, ऑस्ट्रेलिया के पूरे तट पर पाई जाती है । (तस्मानिया और विक्टोरिया को छोड़कर)                     

2. छोटे सिर वाली रिबन मछली :

इस मछली को सवलाई हेयरकटेल मछली के रूप में भी जाना जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम लेप्टुरैन्थस सवला है  इंडियन ओशननओसीयन की मछली की प्रजाति और बेंगाल की खाड़ी है। ये 100 मीटर की गहराई से गहरे पानी में रहते हैं।

अधिकतम लंबाई 100 सेमी और वजन 8kg  है। ये मछली अक्टूबर से अगस्त तक कुल ५-३० मी लंबाई-भार वाले लेप्टुरैक्थस सांवला, जिसे स्मॉल-हेड हेयरटेल और रिबन मछली के रूप में भी जाना जाता है। 

RIBBON मछली की फायदे:

रिबन मछली उच्च गुणवत्ता वाले प्रोटीन, स्वस्थ वसा ओमेगा -3 फैटी एसिड है और डोकोसा हेक्सेनोइक एसिड (डीएचए) मस्तिष्क विकास के लिए है । और आयोडीन, जस्ता, तांबा, सेलेनियम जैसे एक अद्वितीय स्रोत होती है ।सूखे रिबन मछली कैल्शियम का उत्कृष्ट स्रोत होती है।

यह रक्तचाप के स्तर को बनाए रखने में मदद करता है। रक्त कोशिका में सुधार करता है। जोड़ों के दर्द का इलाज, दिमागी ताकत में वृद्धि ओर त्वचा की बनावट में मदत करता है । दिल की बीमारियों को ओर पुरानी बीमारियों को भी आने में रुकावट की मदत करती है।

भारत में ये मछली समुद्री जगह पर दिखती है और वहां रहने बाले लोग बहत खाते है।इस मछली को सुखा कर इसको बेचते हैं।Ribbon मछली सूखा कर इसको fry करके खाते हैं। इसका स्वाद बहत अच्छा और थोड़ी नमकीन लगती है।

Ribbon Fish
हमे ये खुसी है कि आपको Ribbon Fish की बारे में जो जो भी जानकारी चाहिए था वो सारे जानकरी देने में सफल हुए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular